शिकारियों ने किया विदेशी पक्षियों (बार हेडेड गीज) का शिकार - Bishnoi News

राजस्थान बिश्नोई समाचार नागौर समाचार नागौर जिले के भावण्डा थाना क्षेत्र में शिकारियों ने जहरीला दान खिलाकर विदेशी पक्षीयों का शिकार किया। मौके से पांच मृत पक्षी मिले हैं।
भावण्डा थाना क्षेत्र के लालाप गांव के रामनाथ पुत्र सावतराम व प्रकाश ने तालाब के आगोर में विदेशी पक्षियों (बार हेडेड गीज) को जहरीला दाना डाल कर मार दिया। मौके से पांच मृत पक्षी मिले हैं, किन्तु 5-6 पक्षियों को वे लेकर भाग गए।
क्षेत्र में दिनोदिन बढ़ रही शिकार की घटनाओं से वन्य जीव प्रेमियों में आक्रोश व्याप्त है। भावण्डा थाने में शिकाकियों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया।
घटना स्थल पर श्री जम्भेश्वर पर्यावरण एवं जीव रक्षा प्रदेश संस्था के प्रदेश महामंत्री अनोपाराम डुडी, खींवसर तहसील अध्यक्ष ओमप्रकाश लेगा, महामंत्री हनुमान राम लेगा, मंत्री सहीराम लेगा, बीआर मिर्धा कॉलेज, नागौर के पूर्व उपाध्यक्ष शिवपाल बिश्नोई, नया बेरा डेयरी सचिव मालाराम लेगा, रामकरण, रूपाराम, हुक्माराम जाट, पूर्व पंचयात समिति सदस्य मनीराम मूंडेर, भुड़ाराम ढोली, मनफुल, सुगनाराम चौकीदार, श्रवणदास साद, सहदेव, अर्जुन जाट, बन्शीलाल मेघवाल, पाचाराम प्रजापत सहित सेकड़ों वन्यजीव प्रेमी मौजूद रहे।
भावण्डा थानाधिकारी मनिष वैष्णव व वन विभाग, नागौर के सहायक वन संरक्षक भगवान सिंह राठौर, फोरेस्टर टिकुराम जाट भी थे।
नागौर पशु हॉस्पिटल में मेडिकल बोर्ड गठित किया गया। नागौर वन विभाग रेंज में मृत पक्षियों को पोस्टमॉर्टम के बाद दफनाया गया।
बढ़ती शिकार की घटनाओं से आक्रोशित श्री जम्भेश्वर पर्यावरण एवं जीव रक्षा प्रदेश संस्था के खींवसर तहसील अध्यक्ष ओमप्रकाश बिश्नोई ने उग्र आंदोलन की चेतावनी दी है।
अजमेर डिवीजन के सीसीएफ एसके दूबे से फोन पर बातचीत कर घटना से अवगत कराया। सीसीएफ ने द्वारा उचित कार्वाई के आश्वासन और वन्यजीव क्षेत्र में गश्त करवाने का भरोसा दिलाने के बाद वन्यजीव प्रेमियों का आक्रोश शांत हुआ।

द्वारा समाचार जगत

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
Top